इस वक्त अफगानिस्तान का हाल खस्ता है, तालीबानी राज से लोगों को खौफ का माहौल है, लोग अफगानिस्तान छोड़ बाहर जाना चाहते हैं, वही तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान छोड़कर गए राष्ट्रपति अशरफ गनी मीडिया के सामने आए, गनी ने UAE से अफगानिस्तान की जनता को संबोधित किया है, गनी ने कहा है कि तालिबान के कब्जे के बाद वे अगर काबुल में रहते तो कत्लेआम होता, उन्होने कहा कि उनके पैसे लेकर अफगानिस्तान छोड़ने की बात पूरी तरह से अफवाह है,
मुझे भगोड़ा कहने वालों को मेरे बारे में जानकारी नहीं है, जो मुझे नहीं जानते वो फैसला ना सुनाएं, तालिबानी राज के बाद अफगानिस्तान से भागने के उन पर आरोप लग रहे थे, जानकारी के मुताबिक कहा गया था कि वो बहुत सारा पैसा लेकर काबुल से निकल गए।
शरफ गनी ने कहा कि तालिबान से बातचीत से कोई नतीजा नहीं निकलने वाला था, कोई अनहोनी ना हो इसके वो UAE गए, वो सुरक्षा कारणों से अफगानिस्तान से दूर हैं, मैंने अपने मुल्क के लोगों को खूनी जंग से बचाया, शरफ गनी ने अफगान के सुरक्षाबलों का शुक्रिया अदा किया, उन्होने कहा कि उन्हें उनकी इच्छा के खिलाफ देश से बाहर भेजा गया, ‘मैंने सुरक्षा अधिकारियों की सलाह के बाद देश छोड़ा हैं।
हालाकि अब अफगानिस्तान में तालिबानी सत्ता काबिज हो चुकी है और सरकार बनाने की तैयारी चल रही है, वहीं कई विदेशी नागरिक अभी भी अफगानिस्तान में फंसे हैं, और देश छोड़ जाना चाहते हैं, अफगान नागरिकों में भय का माहौल है, उन्हे अब वो अधिकार वहां मिल पाएगा या नहीं जो वो चाहते हैं, ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here