दक्षिण भारत के अहम राज्य कर्नाटक में विधानसभा चुनाव का बिगुल आज बज गया है। भारतीय निर्वाचन आयोग ने प्रदेश की सभी 224 सीटों पर चुनाव की तारीख का एलान कर दिया है। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चुनाव की अधिसूचना जारी कर दी। खास बात ये है कि चुनाव आयोग ने प्रदेश की सभी विधानसभा सीटों पर एक ही चरण में चुनाव कराने का कार्यक्रम तय किया है।

एक नज़र में देखिये चुनाव आयोग की अहम बातें::
  1. कर्नाटक में विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग 10 मई को होगी। नतीजे 13 मई को आएंगे।
  2. चुनाव आयुक्त ने कहा, 13 अप्रैल को राज्य में चुनावों की घोषणा के लिए नॉटिफिकेशन जारी कर दिए जाएंगे और 20 अप्रैल तक इस नॉटिफिकेशन के आधार पर उम्मीदवार अपना नामांकन दाखिल कर सकेंगे।
  3. 21 अप्रैल तक नामांकन पत्रों की जांच होगी और 24 अप्रैल को नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि है।
  4. कर्नाटक में कुल मतदाताओं की संख्या 5,21,73,579 है। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या लगभग 2.6 करोड़ है।
  5. 80 साल से अधिक उम्र के मतदाताओं और दिव्यांग मतदाताओं को वोट डालने के लिए अब आयोग वोट फ्राम होम की सुविधा पहली बार शुरू करने जा रहा है।
  6. प्रदेश में लगभग 9.17 लाख मतदाता पहली बार वोट डालेंगे।
  7. वोटिंग के लिए प्रदेशभर में कुल 58,282 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं। इनमें से 20,868 पोलिंग बूथ शहरी इलाकों में हैं। 29 हजार से ज्यादा पोलिंग बूथ पर वेबकास्टिंग की जाएगी।
  8. राजीव कुमार ने बताया कि करीब 1,320 मतदान केंद्रों पर केवल महिला कर्मचारी मौजूद रहेंगी।
  9. 240 मतदान केंद्रों को मॉडल पॉलिंग स्टेशन बनाया जाएगा। युवाओं को मतदान केंद्रों पर लाने के लिए 224 मतदान केंद्र सिर्फ युवाओं द्वारा संचालित किया जाएगा।
  10. कर्नाटक में 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 80, जेडीएस ने 37 और भाजपा ने 104 सीटों पर जीत दर्ज की थी। अन्य के खाते में तीन सीटें गई थीं।
  11. प्रदेश में 80+ मतदाताओं की संख्या 12.15 लाख और 100़ मतदाताओं की संख्या 16,976 है।
  12. चुनाव आयोग ने कहा कि वह आम आदमी पार्टी को राष्ट्रीय दल के दर्जे की समीक्षा कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here