उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने जन्मदिन के अवसर पर यहां गोरखनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की। इस मौके पर मुख्यमंत्री को जन्मदिन की बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। इसमें सबसे बड़ा नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का है, जिन्होंने ट्वीट करके सीएम योगी को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी हैं। वहीं रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी मुख्यमंत्री योगी को बधाई दी है।

पर्यावरण दिवस पर लगाया हरिशंकरी पौधा

आज अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण दिवस भी है। इस अवसर पर सीएम योगी ने गोरखनाथ मन्दिर परिसर स्थित महायोगी गुरु गोरखनाथ गो सेवा केन्द्र में हरिशंकरी (बरगद, पीपल, पाकड़) का पौधा लगाया। इसके साथ ही सीएम ने सभी से अधिक से अधिक वृक्ष लगाने व पर्यावरण संरक्षण की अपील की।

पीएम मोदी ने आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जन्मदिन की हार्दिक बधाई देते हुए उनके नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में चहुंमुखी विकास होने की बात करते हुए प्रदेश को सभी महत्वपूर्ण मानकों पर आगे बताया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुभकामनाओं के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताते हुए कहा कि उनके (प्रधानमंत्री) यशस्वी मार्गदर्शन में ही उत्तर प्रदेश तेजी से विकास कर रहा है।

यह भी पढ़ें- नहीं रहे महाभारत के ‘शकुनि मामा’ 78 साल की उम्र में गुफी पेंटल का निधन

PM मोदी का बधाई ट्वीट

“उत्तर प्रदेश के गतिशील मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जन्मदिन की हार्दिक बधाई। पिछले 6 वर्षों में, उन्होंने राज्य को महान नेतृत्व प्रदान किया है और चहुंमुखी प्रगति सुनिश्चित की है। प्रमुख मानकों पर यूपी का विकास उल्लेखनीय रहा है। उनके लंबे और स्वस्थ जीवन की प्रार्थना कर रहा हूं”।

CM योगी ने किया धन्यवाद

“आपकी आत्मीय एवं ऊर्जावान शुभकामनाओं हेतु हार्दिक आभार आदरणीय प्रधानमंत्री जी!

यह आपके यशस्वी मार्गदर्शन का ही सुफल है कि सामर्थ्य-संपन्न, आत्मनिर्भर ‘नया उत्तर प्रदेश’ सेवा, सुरक्षा, सुशासन और विकास के सुपथ पर चलते हुए अपनी नई पहचान स्थापित कर रहा है।”

सन्यासी से सबसे बड़े प्रदेश के मुख्यमंत्री

देश की सबसे बड़ी आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज 51 साल के हो गए हैं। इस मौके पर वे गोरखनाथ मंदिर में रुद्राभिषेक और पेड़ लगाकर पर्यावरण दिवस पर इस दिन को खास बना रहे हैं।

5 जून 1972 को जन्मे योगी आदित्यनाथ का जीवन उतार चढ़ाव से भरा रहा है। पहले संन्यास लिया। फिर जनता की सेवा करने के लिए सियासत का दामन थामा।

सूबे में माफियाराज को को जड़ से खत्म करने की दिशा में उन्होंने कई सूरमाओं को उनकी असली जगह पर भेजने का काम पूरी मुस्तैदी से किया है। 51 वर्ष के हुए योगी इन वर्षों की यात्रा में संघर्ष भी आए और सफलता भी आई। हर परिस्थितियों में समान भाव रखने वाले योगी ‘बाबा’ के अनुभव का ही नतीजा है कि यूपी में लगातार दूसरी बार बड़े बहुमत के साथ सत्ता में वापसी संभव हो सकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here