अब मध्यप्रदेश में जेल में बंद कैदियों की मौत होने पर उनके परिजनों को मुआवजा दिया जाएगा, जानकारी के मुताबकि जेल विभाग ने मुआवजे को  लेकर योजना बनाई है…इसके तहत जेल विभाग की लापरवाही, जेल में बंद कैदी की आत्महत्या, डॉक्टरों की लापरवाही, प्राकृतिक मौत, दुर्घटना से मौत पर 5 लाख मुआवजा देने का प्रावधान हैं… वहीं जेल में बंद कैदियों के बीच संघर्ष में मौत पर भी 5 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा।

किन परिस्थितियों में नहीं मिलेगा मुआवजा ?

अगर कोई कैदी पैरोल पर बाहर रहता हैं और किसी हाल में उसकी मौत हो जाती है तो उस पर कैदी के परिजनों को कोई मुआवजा नहीं दिया जाएगा….वहीं जेल से फरार और पुलिस हिरासत से भागने पर मौत पर भी मुआवजा नहीं दिया जाएगा।

पोस्टमार्टम के आधार पर मुवआजा राशि

कैदी के शव को पोस्टमार्टम के आधार मुआवजे को लेकर फैसला किया जाएगा, इसके मुताबिक जेल विभाग को 1 महीने के भीतर ही कैदी के परिजनों को मुआवजा राशि देना होगा… और इसका पूरा ड्राफ्ट तैयार किया जाएगा।

 

इसे भी पढ़ें- रायपुर में ‘होली मिलन’ समारोह, अलग अदांज में नजर आए सीएम भूपेश…

नागालैंड में 5वीं सीएम बने रियो नेफ्यू, कैसे किया ये करिश्मा…जानिये इस पूरी रिपोर्ट में…
रतलाम में बॉडी बिल्डिंग स्पर्धा पर विवाद,वीडियो वायरल, कांग्रेस-बीजेपी पर केस दर्ज
क्या आपने कभी सोचा है, आपका Wi-Fi राउटर कितनी बिजली खपत करता है? दिन रात चले तो महीने में कितने का आएगा बिल? जानिये इस रिपोर्ट में…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here