File

जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल (Former Governor) सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) के करीबी के ठिकानों पर आज CBI का एक्शन देखने को मिला है। CBI सूत्रों के मुताबिक जिस व्यक्ति के ठिकानों पर CBI ने छापा मारा है, वह सत्यपाल मलिक के राज्यपाल रहते उनका सहयोगी था। CBI की ये कार्रवाई बीमा घोटाला केस (Insurance scam case) में हो रही है। इस दौरान दिल्ली और जम्मू-कश्मीर समेत 9 ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है।

अधिकारियों ने बताया कि सत्यपाल मलिक के जिस सहयोगी के घर पर छापेमारी हो रही है, वो उनके गर्वनर के कार्यकाल में मीडिया सलाहकार था। इस व्यक्ति का नाम सुनक बाली (Sunak Bali) है, जिस पर इंश्योरेंस स्कैम केस में कार्रवाई चल रही है। मिली जानकारी के मुताबिक, ये स्कैम केस जम्मू-कश्मीर से जुड़ा हुआ है। यहां गौर करने वाली बात ये है कि सत्यपाल मलिक खुद पहले से ही इस मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी के रडार पर थे। इस बीच हुई ये कार्रवाई बेहद अहम मानी जा रही है।

CBI ने जारी किया था नोटिस

दरअसल, इसस पहले अप्रैल में सत्यपाल मलिक के खिलाफ CBI ने नोटिस जारी किया था। CBI ने अपने नोटिस में कहा था कि वह जम्मू-कश्मीर में हुए इंश्योरेंस स्कैम को लेकर सवाल मलिक से कुछ सवालों के जवाब जानना चाहती है। नोटिस को लेकर सत्यपाल मलिक की तरफ से बयान भी जारी किया गया था। उन्होंने कहा था कि ऐसा लगता है कि जांच एजेंसी किसी तरह का कोई स्पष्टीकरण चाहती है। उनका कहना था कि CBI को उन केस में जवाब चाहिए, जिसकी रिपोर्ट उन्होंने खुद दी थी।

क्या है पूरा मामला?

सत्यपाल मलिक ने आरोप लगाया था कि सरकारी कर्मचारियों के लिए सामूहिक चिकित्सा बीमा योजना के ठेके देने और जम्मू-कश्मीर में पनबिजली परियोजना के लिए उन्हें रिश्वत की पेशकश की गई थी। मलिक के आरोपों के बाद CBI ने दो FIR दर्ज की थीं।

300 करोड़ रिश्वत की पेशकश

पूर्व राज्यपाल ने दावा किया था कि 23 अगस्त 2018 और 30 अक्टूबर 2019 के बीच जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान दो फाइलों को मंजूरी देने के लिए उन्हें 300 करोड़ रुपये की रिश्वत की पेशकश की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here