जमीन के बदले नौकरी घोटाला मामले में एक बार फिर सीबीआई ने बड़ी छापेमारी की है। ये छापेमारी आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव के करीबियों के ठिकानों पर की गई है। इस दौरान दिल्ली, नोएडा, गुरुग्राम और पटना समेत 09 ठिकानों पर छापेमारी की गई है।

यह भी पढ़ें-रोजगार मेले में प्रधानमंत्री ने बांटे 71 हजार नियुक्ति पत्र, अब तक मिलीं 3.6 लाख नौ​करियां

सूत्रों के मुताबिक, पटना और आरा में राजद विधायक किरण देवी और पूर्व राजद विधायक अरुण यादव के पैतृक आवास सहित कई ठिकानों पर सीबीआई छापेमारी की है। सीबीआई की यह रेड नोएडा, दिल्ली और गुरुग्राम में लालू के करीबी माने जाने वाले प्रेम चंद गुप्ता के ठिकानों पर भी हुई है।

यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारियों के DA में बढ़ोतरी

कौन हैं किरण देवी और अरुण यादव?

बता दें, किरण देवी आरजेडी से संदेश विधानसभा क्षेत्र की विधायक हैं और उनके पति अरुण यादव की छवि एक बाहुबली नेता के रूप में है। किरण देवी लालू यादव के करीबी विधायकों में एक मानी जाती हैं। अरुण यादव भी राजद सुप्रीमो लालू यादव के काफी करीबी रहे हैं। उनका लालू परिवार से संबंध काफी अच्छा रहा है।

दुष्कर्म केस में भी फंस चुके हैं अरुण यादव

इससे पहले अरुण यादव पिछले साल एक नाबालिग से दुष्कर्म मामले में भी फंसे थे। इसके तीन साल बाद 16 जुलाई 2022 को पूर्व विधायक अरुण यादव ने पोक्सो के विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार सिंह के कोर्ट में समर्पण किया था। उस समय कोर्ट के आदेश पर पूर्व विधायक को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया था। हालांकि बाद में साक्ष्य के आभाव में कोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here