​दिल्ली के पूर्व उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की होली अब तिहाड़ जेल में मनेगी। दरअसल, राउज एवेन्यू कोर्ट ने सिसोदिया को 20 मार्च तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। दिल्ली आबकारी नीति मामले में सीबीआई की जांच का सामना कर ​रहे सिसोदिया को सीबीआई की रिमांड खत्म होने पर राउज एवेन्यू कोर्ट लाया गया था। कोर्ट ने उनको विपश्यना सेल भेजा है। उन्हें गीता, डायरी और पेन रखने की इजाजत दी गई है। आप नेता को मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर दवाएं रखने की भी इजाजत मिली है। सिसोदिया की अब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से ही पेशी होगी।

क्या है पूरा मामला

आपको बता दें कि दिल्ली शराब नीति मामले में गिरफ्तारी के बाद आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया एक सप्ताह से सीबीआई की हिरासत में थे। सिसोदिया की गिरफ्तारी के बाद राउज एवेन्यू कोर्ट ने पांच दिनों के लिए सीबीआई की हिरासत में भेज दिया गया था। इसके बाद उन्हें शनिवार को अदालत में पेश किया गया था, विशेष न्यायाधीश एम.के नागपाल ने केंद्रीय एजेंसी को दो और दिनों के लिए अपनी रिमांड पर भेजा था। वहीं, अदालत ने सिसोदिया द्वारा दायर जमानत पर सीबीआई को नोटिस भी जारी किया। सिसोदिया की जमानत याचिका पर सुनवाई 10 मार्च को होगी।

सुप्रीम कोर्ट में मिली थी निराशा

दरअसल, सीबीआई कोर्ट से रिमांड मिलने के बाद मनीष सिसोदिया ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। लेकिन सर्वोच्च अदालत ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी। उन्होंने अपनी गिरफ्तारी को सुप्रीम कोर्ट मेंचुनौती दी थी।लेकिन उनकी अपील पर सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा कि उन्हें पहले दिल्ली हाईकोर्ट जाना चाहिए था। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस पीएस नरसिम्हा की बेंच ने मामले की सुनवाई की थी। सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर आम आदमी पार्टी ने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करते हैं और हम हाईकोर्ट जाएंगे।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here